जब मेरी चिंता बढ़े माँ सपने में आए

इंसान के तमाम रिश्तों पर बहुत कुछ लिखा पढ़ा गया है, मां और बेटे के रिश्ते पर भी लिखा गया है । मेरा यह निश्चित मत है कि की एक…

Continue Reading जब मेरी चिंता बढ़े माँ सपने में आए

SC Shattered The Notions of ‘Physiological Limitations’ in Armed Forces

By-Saumya Singh The Hon’ble SC vis-a-vis its emancipatory project has pronounced a seminal judgement conducive to consummate transformative constitutionalism. Women are not the problem, gender stereotype deeply embedded in the…

Continue Reading SC Shattered The Notions of ‘Physiological Limitations’ in Armed Forces

साक्षात्कार : नवीन चौधरी

सोशियो लीगल लिटरेरी के इंटरव्यू सीरीज की चौथी कड़ी में मंच के मैनेजिंग एडिटर आर्यन आदित्य ने बात किया- ऑक्सफोर्ड इंडिया प्रेस के एसोसिएट मार्केटिंग डायरेक्टर, जनता स्टोर के लेखक,…

Continue Reading साक्षात्कार : नवीन चौधरी

साक्षात्कार : प्रतीक पचौरी

http://sociolegalliterary.in सोशियो लीगल लिटरेरी के इंटरव्यू सीरीज की तीसरी कड़ी में, मंच के संस्थापक संपादक राजेश रंजन एवं मैनेजिंग एडिटर आर्यन आदित्य ने बात किया, उभरते हुए अभिनेता, निर्देशक, प्रतीक…

Continue Reading साक्षात्कार : प्रतीक पचौरी

पंचायत पर पंचायती

Panchayat Official Poster नीलेश मिश्रा के "द स्लो इंटरव्यू" की प्रस्तुति करता है- गाँव कनेक्शन स्टूडियो। इस इंटरव्यू में नीलेश मिश्रा छोटे शहर या कस्बों से शहर गए लोगों की…

Continue Reading पंचायत पर पंचायती

Ethics and Values

                                                    By Kritika Kapoor Mother:  Natali, stop running around the terrace! Don’t you see the pickles are kept in the sunlight? Stay away, else you’ll rot them all. Natali:    What…

Continue Reading Ethics and Values